अनोखी बारात


वो अनोखी रात,
वो अनोखी बारात,
जहाँ बाराती भूत थे,
ब्रह्मा और उनके सूत थे;
जहाँ विष्णु तक भी पैदल चले,
जहाँ किसी प्रजाति की कमी ना खले।

ऐसी वो बारात थी,
ऐसा वो दूल्हा था,
कैसा वो दूल्हा था!!
जेवर की जगह जटाएं थी,
वासुकी नाग जिसके गले में विराजे;
कुण्डल जिसके बिच्छु साजे,
भभूत से जिसका तन भरा,
अरे कौन है दूल्हा देखो ज़रा।

जिसकी जन्मतिथि भी लुप्त थी,
जिसमें सारी सृष्टि तृप्त थी,
दूल्हे का कोई पूर्वज नहीं,
ऐसा कोई दूल्हा देखा नहीं।
घोड़े कि जगह जो गाए पर आवें,
पुष्प की जगह जो त्रिशूल धरावें।

लोग पूछें ये कौन है साला
नारद बोले,
दूल्हा है बड़ा भोला भाला।
ये महलो मे नहीं कैलाश पे रहता है
सारे ब्रह्माण्ड का बोझ यही सेहता है।
दूल्हा बड़ा छंट है,
नाम इसका नीलकंठ है;
बात मेरी इन्होनें सुनी नहीं
बाराती मेरी इन्होंने चुनी नहीं।
अब देरी करना सही नहीं,
दुल्हन को बुलवाईए,
कहीं दिख रही नहीं।

Credit: SpiritualLiving

बोल पड़े ससुर जी शिव के,
इससे अच्छा तो मेरी बेटी विष पी ले।
ऐसे व्यक्ति को मैं अपनी बेटी दूँ,
जिसके इर्दगिर्द है सिर्फ रूह।
मैं इतना पापी नहीं,
इस पाप कि कोई माफ़ी नहीं।

तब स्वयं आयी दुल्हन
बोली मेरी पति बड़े है मनमोहन।
ऐसा रूप सारे ब्रह्मांड में कहीं नहीं,
क्योंकि मेरे स्वामी जैसा कोई नहीं।
ये तो बस इनकी लीला है,
मुझे तो इनका प्रेम ना जाने कितने ही जन्मों से मिला है
ये विवाह तो बस एक रीत है,
यहीं तो मेरे प्रीत हैं।
तत्पचात विवाह आरम्भ हुआ,
ये विवाह ब्रह्म हुआ,
एक नए महोत्सव का प्रारम्भ हुआ,
जो धरा पर बड़ा प्रचंड हुआ।
धरती पर शिव पिता और पार्वती धात्री हैं,
ये अनोखा महोत्सव शिवरात्रि है।


| हर हर आदिशक्ति।

~प्रतीक श्रीवास्तव~

नमस्कार। मैं प्रतीक श्रीवास्तव कक्षा 9 का छात्र हूँ। पढ़ाई लिखाई के साथ साथ मुझे लिखने का भी शौक है। तो आज, शिवरात्रि के पावन अवसर पर मैंने भगवान शिव और माता पार्वती के विवाह की कहानी को कविता में पिरोने की कोशिश की है। उम्मीद है, आपको ये कविता पसंद आएगी।

अगर आपको उचित लगे तो इस लेख को लाइक और इसपर कमेन्ट करें | अपने मित्रों और परिवार के सदस्यों से साझा करें | The GoodWill Blog को follow करें ! मुस्कुराते रहें |

अगर आप भी लिखना चाहते हैं The GoodWill Blog पर तो हमें ईमेल करें : blogthegoodwill@gmail.com

You can follow us on Facebook, Instagram and Twitter!! Yes…The GoodWill is going to be all around you!!

https://www.facebook.com/thegoodwillblog : Facebook
https://www.instagram.com/blogthegoodwill/ : Instagram
https://twitter.com/GoodWillBlog : Twitter

2 thoughts on “अनोखी बारात

Leave a Reply to The GoodWill Blog Cancel reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: