Hindi Blog

समर की पहली कविता

चक्रव्ह्यु शत्रु नहीं, योद्धा की पहचान है|
चक्रव्ह्यु की गहनता ही, अभिमन्यु का मान है|

A lot can happen over …..

फ़न्ने खां द्वेदी इस गहन लेख में बताते हैं की क्या है जो खून के रंग जैसा है |

%d bloggers like this: